बुधवार, 4 अगस्त 2010

मध्यप्रदेश के सर्वाधिक बच्चों को मिला इंस्पायर अवार्ड

मध्यप्रदेश के सर्वाधिक बच्चों को मिला इंस्पायर अवार्ड
सभी जिलों में लगी तीन दिवसीय विज्ञान प्रदर्शनी
Bhopal:Wednesday, August 4, 2010: देश में मध्यप्रदेश के सर्वाधिक 31 हजार 376 छात्र-छात्राओं को केन्द्र के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा इंस्पायर अवार्ड दिया गया। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रयासों का ही परिणाम रहा कि अवार्डों की संख्या में वर्ष 2009 में मध्यप्रदेश अग्रणी राज्य रहा। यह जानकारी स्कूल शिक्षा मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस ने दी।
श्रीमती अर्चना चिटनीस ने बताया कि इंस्पायर अवार्ड पाने वाले प्रदेश के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के कक्षा छठवीं से दसवीं तक के अध्ययनरत छात्र-छात्राएं हैं। अवार्ड के साथ ही इन छात्र-छात्राओं को प्रति छात्र 5000 रुपये प्रदान किये गये हैं। इस राशि का इस्तेमाल वे विज्ञान विषय में शोध एवं नवाचार करते हुए प्रोजेक्ट एवं मॉडल बनायेंगे। अनुसंधान एवं सृजन की इस प्रक्रिया में विज्ञान के शिक्षक उन्हें आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के स्कूली बच्चों में वैज्ञानिक चेतना, नजरिये के विकास और उनमें विज्ञान के प्रति दिलचस्पी पैदा करने के लिये स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के सभी जिलों में एक से तीन अगस्त तक तीन दिवसीय जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनियों का आयोजन किया गया। यह आयोजन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार की इंस्पायर अवार्ड योजना के अंतर्गत किया गया।
श्रीमती अर्चना चिटनीस के अनुसार बच्चों द्वारा बनाये गये प्रोजेक्ट एवं मॉडल को जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया। इनमें से सर्वश्रेष्ठ पांच प्रतिशत प्रोजेक्ट एवं मॉडल राज्य स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी हेतु चयनित किये जायेंगे। राज्य स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन भोपाल के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में 20, 21 एवं 22 अगस्त को किया जायेगा। जिसमें प्रदेश के सभी जिलों से चयनित अनुमानित 1500 अवार्डी बच्चे, सैंकड़ों शिक्षक एवं अभिभावक भाग लेंगे। राज्य स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी में प्रस्तुत विज्ञान के प्रोजेक्ट एवं मॉडल में से सर्वश्रेष्ठ 5 का चयन राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में प्रदेश की भागीदारी हेतु किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि इस प्रकार की योजना प्रदेश में पहली बार वृहद स्तर पर संचालित हो रही है। प्रदेश के सभी जिलों में इस विज्ञान प्रदर्शनी के प्रति समस्त अधिकारियों एवं जन-प्रतिनिधियों द्वारा सहभागिता की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें