गुरुवार, 14 मार्च 2013

देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों को सबक सिखाना जरूरी - शिवराजसिंह


भोपाल 14 मार्च 2013। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों को सबक सिखाना जरूरी है। आतंकवादी कायराना हमलों से देश का मनोबल कम नहीं होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहां बंगरसिया में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के नव आरक्षकों के दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समारोह में नव आरक्षकों द्वारा प्रस्तुत की गयी परेड की सलामी ली तथा खुली जीप में परेड का निरीक्षण किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश की सुरक्षा के लिये अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों के परिवार के साथ पूरा देश और प्रदेश है। उन्होंने जम्मू-काश्मीर में कल हुये आतंकी हमले में शहीद प्रदेश के जवान स्व. ओम प्रकाश को श्रद्धांजलि देते हुये कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से शहीद के परिवार को 15 लाख रूपये की सहायता निधि, परिवार के एक सदस्य को नौकरी तथा एक भूखंड दिया जायेगा। शहीदों का जीवन अमूल्य है, उनके परिवारों की देख-रेख करना हमारा कर्त्तव्य है। उन्होंने कहा कि भारत का गौरवशाली इतिहास रहा है। हमारे यहां सब विचारों के आदर की परम्परा रही है। हमारी संस्कृति में संकीर्णता का कोई स्थान नहीं है। उन्होंने नव आरक्षकों से कहा कि वे अनंत शक्तियों के भंडार है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल को केंटीन से प्रदाय की जाने वाली सामग्री पर लगने वाले वेट से छूट देने पर विचार किया जायेगा।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले तीन नव आरक्षकों सर्व प्रवीण सिंघा, मोहित सिंह और एल.प्रेमजीत सिंह को पुरस्कृत किया। उन्होंने बेस्ट बटालियन की ट्राफी 155 वीं बटालियन को तथा वित्तीय अनुशासन की ट्राफी सी.ए.टी.आई. शिवपुरी को प्रदान की। कार्यक्रम में एक हजार 4 नव आरक्षकों ने परेड कमांडर श्री सुभाष वाजपेयी के नेतृत्व में सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्ता की धुन पर आकर्षक मार्च पास्ट किया। स्वागत भाषण देते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिरीक्षक रंजीत सिंह ने बताया कि मध्यप्रदेश के नीमच जिले में वर्ष 1939 में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का जन्म हुआ था। अंत में आभार प्रदर्शन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिरीक्षक दयाराम ने किया।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें